• Tue. May 21st, 2024

सटायर हिन्दी

विद्रूपताओं का आईना

गल्प का संकल्प* 

Byआज़ाद

Apr 15, 2024

भाइयो बहिनो!

किसानों की आय इस बार चार गुना करेंगे। वैसे ही जैसे हमने तीन गुना बोझ डाल कर उन्हें दोहरा करने की कोशिश की थी। लेकिन हम उन्हें एमएसपी की गारंटी नहीं दे सकते क्योंकि वो हम किसी लाला को दे चुके हैं। उसकी गारंटी ही हमारे होने की गारंटी है। हाँ इस बार थार नहीं होगी उसकी पक्की गारंटी है।

महिलाओं पर अत्याचार करने से अपने लोगों को रोकेंगे मतलब उनसे निवेदन करेंगे और अगर उन्होंने हमारे साथ बॉन्ड दिखाया तो अपनी आँखें फोड़ लेंगे, ज़बान सिल लेंगे लेकिन महिलाओं पर अत्याचार होते नहीं देखेंगे। मणिपुर हो या उत्तराखंड हम महिलाओं को सुरक्षा की गारंटी देंगे बशर्ते वो चारदीवारी से बाहर ना निकलें।

युवाओं को हम बेरोज़गार नहीं रहने देंगे क्योंकि हमारे काडर में अभी भी बहुत समितियों में युवाओं की इच्छानुसार रिक्त स्थानों की भर्ती है। इसमें सबको एक-दूसरे की नकल ही करनी है लिहाज़ा नकल या पर्चा लीक जैसे सुविधा विरोधी क़ानून का कोई दखल नहीं होगा। हम युवाओं की अग्नि को वीर बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

हम श्रम को सम्मान देंगे और बड़े तबके को श्रम करने पर मज़बूर कर देंगे। इसके लिये हमने पाँच किलो राशन हर महीने की एक प्रेरणादायक योजना शुरू की है। विपक्ष की रोज़गार गारंटी को अपने लोगों की कमाई की गारंटी बनाकर हम हर तबके को श्रम का फल चखने को प्रेरित करेंगे। हम अपने श्रम को विपक्ष की हर रेवड़ी का विरोध करने में लगाएंगे और दो की जगह प्रति विरोध तीन देंगे।

भागीदारी को लेकर हमारा रिकॉर्ड बेहद साफ़ है। हमने दंगों, दबंगों, चुनाव की फंडिंग, सरकारी और संवैधानिक संस्थाओं में हमारी विचारधारा के लोगों की भागीदारी को सुधारा है। देश की गोपनीय खबरें दुश्मन को लीक करने वाले कई लोगों के पकड़े जाने पर पता चला कि वो हमारी विचारधारा से प्रेरित हो स्वतः मुखबिरी में अपनी भागीदारी निभा रहे थे। हम भागीदारी बढ़ाने के लिये मध्य प्रदेश की तरह खुले में शौच के लिये जाति आधारित चलते फिरते इंसानी शौचालय बनाने की सीधी गारंटी लेते हैं।

लोगों को न्याय से ज़्यादा मेरे संकल्प की ज़रूरत है क्योंकि जो मैं करता हूँ वही न्याय बन जाता है और जो मैं नहीं करता वो संकल्प। विपक्ष के पंचतत्व न्याय के ज़वाब में मेरे ये पाँच गोपनीय संकल्प हैं और इस बार इन्हें साकार करने की मेरी गारंटी है।

*संकल्प पूरा करने की मेरी कोई गारंटी नहीं है केवल संकल्प लेने की गारंटी है।

– जुमला दास द्वारा अपने हित में जारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *